सामाजिक कार्यकर्ता कमला भसीन के निधन से महिला आंदोलन को बड़ा झटका

0 379

नई दिल्ली। प्रख्यात महिला अधिकार कार्यकर्ता, कवयित्री और लेखिका कमला भसीन (Kamla Bhasin) का शनिवार को निधन हो गया. वह 75 वर्ष की थीं. सामाजिक कार्यकर्ता (Social Activist) कविता श्रीवास्तव ने ट्विटर पर बताया कि भसीन ने तड़के करीब तीन बजे अंतिम सांस ली. भसीन भारत और अन्य दक्षिण एशियाई देशों में महिला आंदोलन की एक प्रमुख आवाज रही हैं.

कविता श्रीवास्तव ने ट्वीट किया, हमारी प्रिय मित्र कमला भसीन का 25 सितंबर को तड़के लगभग तीन बजे निधन हो गया. यह भारत और दक्षिण एशियाई क्षेत्र में महिला आंदोलन के लिए एक बड़ा झटका है. विपरीत परिस्थितियों में भी उन्होंने जिंदादिली से जीवन का लुत्फ उठाया. कमला आप हमेशा हमारे दिलों में जिंदा रहेंगी.

कमला भसीन के निधन पर अभिनेत्री और सामाजिक कार्यकर्ता शबाना आजमी ने भी शोक व्‍यक्‍त किया है. उन्‍होंने ट्वीट करते हुए लिखा है कि तेजतर्रार कमला भसीन ने अपनी आखिरी लड़ाई, गायन और जीवन को अच्‍छी तरह से जीने के जश्‍न के साथ पूरी की. उनकी कमी हमेशा खलेगी. उनकी साहसी मौजूदगी, हंसी और गीत, उनकी अद्भुत ताकत उनकी विरासत है. हम सब इसे संजोकर रखेंगे जैसा हमने पहले अरुणा रॉय के लिए किया.

इसी तरह इतिहासकार इरफान हबीब ने कमला भसीन को याद करते हुए लिखा, प्रिय मित्र और असाधारण इंसान कमला भसीन के निधन के बारे में सुनकर बहुत दुख हुआ. हम कल ही उनके स्वास्थ्य के बारे में चर्चा कर रहे थे, लेकिन यह कभी नहीं सोचा था कि वह अगले दिन हमें छोड़ देंगी. आप बहुत याद आएंगी.

 

Leave A Reply