बिहार उपचुनाव : पुत्रमोह में लालू प्रसाद के बिगड़े बोल नहीं रास आये कांग्रेस को

0 76

पटना। राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद के बयान से भड़की कांग्रेस ने अब आर -पार की लगायी का मूड बना लिया है। कांग्रेस प्रभारी भक्त चरणदास पर दिए गए बयान के बाद प्रदेश कांग्रेस के नेताओं ने आपत्ति जताई है। विधान पार्षद प्रेमचंद मिश्रा ने कहा कि लालू प्रसाद ने अपशब्दों का प्रयोग किया है। कांग्रेस इसकी भर्त्सना करती है। राजनीति में गरिमा का ख्याल रखा जाना चाहिए। अगर यही रवैया रहा तो कांग्रेस भी संयम तोड़ने में पीछे नहीं रहेगी।

कांग्रेस के मीडिया विभाग के चेयरमैन राजेश राठौड़ ने कहा कि लालू प्रसाद को यह ध्यान नहीं आ रहा है कि बिना कांग्रेस के 19 विधायकों के समर्थन से उनके पुत्र तेजस्वी यादव मुख्यमंत्री नहीं बनेंगे। लालू यादव को यह स्पष्ट करना चाहिए कि क्या वे कांग्रेस से दूर होकर जदयू या भाजपा किसके साथ जाकर अपने पुत्र को मुख्यमंत्री बनाने का सपना देख रहे हैं।

प्रदेश प्रवक्ता असित नाथ तिवारी ने कहा कि यह सिर्फ किसी व्यक्ति का अपमान नहीं है बल्कि यह दलित समुदाय का अपमान है। आखिर उन्हें दलित समुदाय से इतनी परेशानी क्यों है? आरोप लगाया कि लालू यादव पुत्रमोह में सामंतवादी होते जा रहे हैं।

कांग्रेस नेता अमरेन्द्र सिंह ने कहा कि उपचुनाव में होने वाली अपनी हार निश्चित जानकर राजद नेताओं के बोल बिगड़ गए हैं। वे भाजपा-जेडयू पर हमला बोल ने बजाय कांग्रेस पर हमलावर हो गए हैं। प्रवीण सिंह कुशवाहा ने कहा कि लालू यादव हमेशा से दलितों का अपमान करते रहे हैं। जेल जाने के बावजूद उनमें कोई बदलाव नहीं आया है।