पहली बार ममता बनर्जी के अभियान पर कांग्रेस बोली-असंभव है यह ड्रीम

0 90

नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में शानदार जीत के बाद ममता बनर्जी लगातार अपनी पार्टी टीएमसी के विस्तार की कोशिश कर रही है। इसके लिए उन्होंने सबसे ज्यादा कांग्रेस को नुकसान पहुंचाया है। ममता की इस विस्तारवाद की नीति को लेकर कांग्रेस ने पहली बार खुलकर हमला किया है। पार्टी के महासचिव केसी वेणुगोपाल ने कहा, ”भारतीय राजनीति की हकीकत सभी जानते हैं। यह सोचना कि कांग्रेस के बिना कोई भी भाजपा को हरा सकता है, महज एक सपना है।”

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस नेता ममता बनर्जी ने मुंबई में सिविल सोसाइटी के सदस्यों के साथ बातचीत के दौरान कहा, ”अगर सभी क्षेत्रीय दल एक साथ आ जाएं, तो भारतीय जनता पार्टी को हराना आसान होगा।” वहीं, एनसीपी प्रमुख शरद पवार से जब पूछा गया कि क्या बीजेपी के खिलाफ एक मजबूत गठबंधन का कांग्रेस हिस्सा होगी, तो उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस हो या कोई अन्य पार्टी, बात यह है कि जो भाजपा के खिलाफ हैं, अगर वे एक साथ आएंगे, तो उनका स्वागत है।’

राकांपा प्रमुख पवार ने कहा, ”हमने मौजूदा स्थिति और सभी समान विचारधारा वाले दलों को साथ आने और भाजपा का एक मजबूत विकल्प प्रदान करने की आवश्यकता पर चर्चा की।” उन्होंने कहा, ”इस समय नेतृत्व कोई मुद्दा नहीं है। हमें एकजुट होकर भाजपा के खिलाफ काम करने की जरूरत है।” यह पूछे जाने पर कि क्या वह चाहती हैं कि पवार कांग्रेस के नेतृत्व वाले संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) के अध्यक्ष बनें, बनर्जी ने कहा, ”अभी कोई संप्रग नहीं है।’