इमेज टुडे - ज़िन्दगी में भर दे रंग - समाचारों का द्विभाषीय पोर्टल

दिल्लीः हरिद्वार कुंभ से लौटे श्रद्धालुओं को रहना होगा 14 दिन क्वारनटीन, DDMA का आदेश      ||      MP: शहडोल-मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन की कमी के चलते 6 मरीजों की मौत      ||      UP: कोरोना के चलते इस साल अयोध्या में नहीं लगेगा रामनवमी का उत्सव मेला      ||      कोरोना: भारत में पिछले 24 घंटों में कोरोना के 2,61,500 नए मामले, 1501 मरीजों की मौत      ||      कोरोना: JEE (Mains) का अप्रैल सेशन स्थगित, परीक्षा से 15 दिन पहले जारी होगी नई तारीख- NTA      ||     

दिल्ली में फिर लॉकडाउन! जानिए दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने क्या कहा?

27-03-2021 14:57:46 142 Total visiter


नई दिल्ली। कोरोना महामारी ने एक बार फिर से महाराष्ट्र और राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली समेत देश के कई राज्यों में अपना पैर तेजी से पसारने लगा है। जिसके वजह से कई शहरों में नाइट कर्फ्यू और लॉकडाउन लगाने की नौबत आ गई है। राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली में भी बीते कई दिनों में कोरोना महामारी के मामले तेज़ी से बढ़े हैं। ऐसे में दिल्ली में भी लॉकडाउन लगाने की अफवाह फैली हुई है। 

ऐसे में इन फैली हुई अफवाहों पर विराम लगाते हुए दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा है कि दिल्ली में फिलहाल लॉकडाउन लगने की कोई संभावना नहीं है और लॉकडाउन समस्या का समाधान नहीं है। स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने बताया कि दिल्ली में अभी लॉकडाउन की कोई संभावना नहीं है। पहले लॉकडाउन करके देखा गया था, उसके पीछे एक लॉजिक था। उस समय किसी को नहीं पता था कि ये वायरस कैसे फैलता है। तब कहा गया था कि संक्रमित होने से लेकर संक्रमण ख़त्म होने तक 14 दिन का सायकिल है। 

तब विशेषज्ञों का कहना था कि अगर 21 दिनों के लिए सभी एक्टिविटी को लॉक कर दें तो वायरस फैलना बन्द हो जाएगा। इसके बाद भी लॉकडाउन बढ़ता गया, लेकिन इसके बावजूद कोरोना पूरी तरह से ख़त्म नही हुआ। मुझे लगता नहीं है कि लॉकडाउन समाधान है।

बता दें कि दिल्ली में कोरोना की ताज़ा स्तिथि बताते हुए स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि शुक्रवार को दिल्ली में 1,534 पॉजिटिव केस आये थे और पॉजिटिविटी 1.8% है। अभी जो पॉजिटिविटी है वो पौने 2 प्रतिशत के करीब कई दिन से चल रही है। पहले केस कम थे लेकिन हाल में थोड़े ज़्यादा बढ़े हैं। इसके लिये हमने टेस्टिंग बहुत ज़्यादा बढा दी है। अब रोज़ाना 80-90 हज़ार टेस्ट हो रहे हैं। देश के औसत टेस्टिंग से 5 गुना ज़्यादा टेस्ट हम कर रहे हैं।

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :