इमेज टुडे - ज़िन्दगी में भर दे रंग - समाचारों का द्विभाषीय पोर्टल

कोरोनाः ICSE बोर्ड ने रद्द की 10वीं की परीक्षा, 12वीं की परीक्षा होगी ऑफलाइन      ||      अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 23 पैसे मजबूत हुआ रुपया      ||      CEC सुशील चंद्र और चुनाव आयुक्त राजीव कुमार कोरोना पॉजिटिव      ||      कोरोनाः हाईकोर्ट की फटकार के बाद एक्टिव हुई तेलंगाना सरकार, 30 अप्रैल तक नाइट कर्फ्यू      ||      कोरोनाः यूपी में वीकेंड कर्फ्यू, 500 से अधिक एक्टिव केस वाले जिलों में लगेगा नाइट कर्फ्यू      ||      यूपीः हमीरपुर जेल के डिप्टी जेलर की कोरोना से मौत, सीओ और कई डॉक्टर संक्रमित      ||      दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल की पत्नी कोरोना पॉजिटिव      ||     

ममता बनर्जी ने सोनिया गांधी, शरद पवार समेत कई बड़े नेताओं को लिखी चिट्ठी

Shikha Awasthi 31-03-2021 17:27:58 139 Total visiter


नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव को लेकर विपक्षों में जारी गहमा-गहमी के बीच मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने राष्ट्रीय राजधानी राज्यक्षेत्र शासन कानून 2021 के विरोध में नॉन बीजेपी लीडर को चिट्ठी लिखी है।

बता दें कि लोकसभा में एनसीटी बिल 2021 को 22 मार्च और राज्यसभा में 24 मार्च को पारित किया गया था। इसके बाद 28 मार्च को राष्ट्रपति ने इस बिल को मंजूरी दी थी। कानून  के मुताबिक, दिल्ली में चुनी हुई सरकार से अधिक शक्तियां उपराज्यपाल के पास होगी। दिल्ली की सरकार को किसी भी कार्यकारी कदम से पहले उपराज्यपाल की सलाह लेनी होगी।

इसी कानून पर कड़ा एतराज जताते हुए टीएमसी अध्यक्ष ममता बनर्जी ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, शरद पवार, एमके स्टालिन, अखिलेश यादव, तेजस्वी यादव, उद्धव ठाकरे, हेमंत सोरेन, अरविंद केजरीवाल, जगन मोहन रेड्डी, नवीन पटनायक, केएस रेड्डी, फारुक अब्दुल्ला, महबूबा मुफ्ती और दिपांकर भट्टाचार्य CPI को चिट्ठी लिखी है।

 

Mamata Banerjee writes to leaders incl Sonia Gandhi, Sharad Pawar, MK Stalin, Tejashwi Yadav, Uddhav Thackeray, Arvind Kejriwal, Naveen Patnaik stating, "I strongly believe that the time has come for a united & effective struggle against BJP's attacks on democracy & Constitution" pic.twitter.com/OLp7tDm9pU

— ANI (@ANI) March 31, 2021

 

 

ममता ने पत्र में कहा है कि जिस तरह से बीजेपी ने एनसीआर बिल को पास करने की कोशिश की है इसके खिलाफ आवाज उठाना जरूरी है। उन्होंने कहा कि बीजेपी एक अथॉरिटेरियन पार्टी है। ममता ने कहा कि  हर राज्य की आवाज और जो आवाज उससे सामंजस्य ना रखे उसे दबा देना चाहती है।

 

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :