इमेज टुडे - ज़िन्दगी में भर दे रंग - समाचारों का द्विभाषीय पोर्टल

सीताराम येचुरी का केंद्र पर हमला, कहा- प्राइवेट है पीएम केयर फंड      ||      दिल्ली सरकार के मंत्री कैलाश गहलोत कोरोना पॉजिटिव, ट्वीट कर दी जानकारी      ||      जम्मू कश्मीर के कुलगाम में जैश-ए-मोहम्मद के दो आतंकी गिरफ्तार      ||      यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ कोरोना पॉजिटिव, ट्वीट कर दी जानकारी      ||      यूपीः CM योगी और अखिलेश यादव को कोरोना, प्रियंका गांधी का ट्वीट- आप सुरक्षित रहें      ||     

गाड़ी से बरामद ईवीएम पर चुनाव आयोग का बड़ा फैसला, जानें आयोग ने क्या कहा

Shikha Awasthi 02-04-2021 13:07:35 165 Total visiter


असम। पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव हो रहे हैं। गुरुवार को असम में दूसरे चरण का मतदान हुआ। वहीं आज शुक्रवार को असम के पथरकंडी विधानसभा क्षेत्र में सफेद रंग की एक बोलेरो कार से ईवीएम बरामदी से लोगों में हड़कंप मच गया। इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर भी वायरल हो रहा है। ईवीएम की बरामदगी के बाद चुनाव आयोग ने पीओ और तीन अन्य अधिकारियों को सस्पेंड कर दिया है। साथ ही चुनाव आयोग ने बूथ संख्या 149 पर फिर से वोटिंग कराने का फैसला लिया है।

चुनाव आयोग ने कहा है, ‘’परिवहन प्रोटोकॉल का उल्लंघन करने के लिए पीठासीन अधिकारी को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया। साथ ही पीओ और 3 अन्य अधिकारियों को निलंबित किया गया है। हालांकि ईवीएम की सील बंद मिली, लेकिन LAC 1 रतबाड़ी(SC) के इंदिरा एमवी स्कूल, संख्या 149 पर दोबारा मतदान कराने का फैसला किया गया है।’’

चुनाव आयोग ने कहा, ‘’शाम 6 बजे मतदान खत्म होने के बाद सुरक्षा इंतजामों के साथ में ईवीएम को लेकर अधिकारी मतदान स्थल से निकले थे, लेकिन रास्ते में वह बाकी गाड़ियों से अलग हो गए, क्योंकि खराब मौसम की वजह से हाइवे पर जाम लग गया था। इसी दौरान रात करीब 9 बजे जिस गाड़ी से ईवीएम जा रही थी, वह खराब हो गई। हालांकि इस बारे में संबंधित अधिकारी को भी जानकारी दी गई थी और दूसरी गाड़ी को भेजा भी गया था। लेकिन खराब मौसम और जाम के हालात को देखते हुए ईवीएम ला रही टीम ने अपने स्तर पर गाड़ी का इंतजाम कर लिया।’’

चुनाव आयोग ने आगे बताया, ‘’रात करीब 9:20 पर दूसरी गाड़ी को रोककर ईवीएम उसमें रखी गयीं और वहां से रवाना हुए। रात 10 बजे तक गाड़ी करीमगंज के पास पहुंची तो वहां पर भीड़ ने उसको रोक लिया और उनके साथ अभद्र भाषा का इस्तेमाल करने लगी। इस घटना की जानकारी मिलते ही चुनाव आयोग से जुड़े और अधिकारी घटनास्थल पर पहुंचे और वहां पर जाकर पड़ताल करने पर पता चला कि जिस गाड़ी से ही ईवीपएम लाई गई है, वह बीजेपी उम्मीदवार की पत्नी के नाम पर रजिस्टर्ड है। घटना के बाद जब ईवीएम वीवीपट मशीन की जांच की गई तो वह पूरी तरह से सीलबंद और सुरक्षित पाई गई और उन्हें किसी तरह की छेड़छाड़ नहीं हुई थी।’’

 

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :