इमेज टुडे - ज़िन्दगी में भर दे रंग - समाचारों का द्विभाषीय पोर्टल

देशभर में 18 साल से ऊपर के लोगों को वैक्सीनेशन के लिए आज से शुरू हो रहा रजिस्ट्रेशन      ||      लखनऊ: मेदांता अस्पताल में मरीजों की मदद के लिए प्रियंका गांधी ने भेजा ऑक्सीजन का टैंकर      ||      भारत में कोरोना की बिगड़ती स्थिति पर संयुक्त राष्ट्र संघ ने बढ़ाया मदद का हाथ      ||      असम में आए भूकंप पर प्रियंका गांधी ने कहा- असम के लोगों के लिए मेरा प्यार और प्रार्थनाएं      ||      PM CARES से DRDO खड़े करेगा 500 ऑक्सीजन प्लांट      ||     

लाशों पर ट्वीट को लेकर रिटायर्ड आईएएस पर मुकदमा दर्ज, लगी ये धाराएं

pooja 15-05-2021 11:53:15 27 Total visiter


उन्नाव: यूपी के उन्नाव में रिटायर्ड आईएएस अधिकारी सूर्य प्रताप सिंह पर एफआईआर दर्ज की गई है. सूर्य प्रताप सिंह यह आरोप है की वह ट्वीट के माध्यम से जन मानस को भड़काने का प्रयास कर रहे है. सूर्य प्रताप ने ट्वीटर पर ट्वीट किया था. जो कि सोशल मीडिया पर जम कर वायरल हो रहा है. वही इस ट्वीट पर उन्नाव सदर कोतवाली पुलिस ने संज्ञान लिया है. साथ ही सदर कोतवाली में रिटायर्ड आईएएस अधिकारी पर मुकदमा भी दर्ज किया गया है.

बता दे कि रिटायर्ड आईएएस सूर्य प्रताप सिंह ने अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा- कि, 67 शवों को योगी सरकार ने गंगा के तट पर जेसीबी से गड्ढा खोदकर दफन किया है. शवों का अंतिम संस्कार हिन्दू रीति रिवाज से न करना हिंदुओ के लिए कलंक जैसा है. यूपी का यह योगी मॉडल जीवित को इलाज नहीं, मृतक का अंतिम संस्कार नहीं. इसके अलावा एसपी सिंह ने एक फोटो शेयर किया है जिसमें शव गंगा में बहते हुए जा रहे हैं. अब यह ट्वीट सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है. इस मामले में उन्नाव सदर कोतवाली पुलिस का यह दावा है. जो 100 शव गंगा में बहते हुए दिखाए जा रहे हैं, वह जनवरी 2014 का है.

गंगा भी तुम्हें माफ नहीं करेंगी: सूर्य प्रताप सिंह

वही सूर्य प्रताप सिंह पर एफआईआर दर्ज होने के बाद उन्होंने कई ट्वीट किए हैं, इनमें उन्होंने लिखा, कि बात सच हो गई. धारा 153, 465, 505, 21, 54 और IT Act 67 के तहत मेरे ऊपर उन्नाव पुलिस ने मुक़दमा लिख दिया है. उन्होंने पूछा है कि क्या उन्नाव में कोई लाशें नहीं तैर रहीं? क्या मुझ पर मुक़दमा कर देने से सच बदल जाएगा? मां गंगा में तैरते 2000 शवों पर सरकार का जवाब- FIR, मां गंगा भी तुम्हें माफ नहीं करेंगी याद रखना.

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :