इमेज टुडे - ज़िन्दगी में भर दे रंग - समाचारों का द्विभाषीय पोर्टल

देशभर में 18 साल से ऊपर के लोगों को वैक्सीनेशन के लिए आज से शुरू हो रहा रजिस्ट्रेशन      ||      लखनऊ: मेदांता अस्पताल में मरीजों की मदद के लिए प्रियंका गांधी ने भेजा ऑक्सीजन का टैंकर      ||      भारत में कोरोना की बिगड़ती स्थिति पर संयुक्त राष्ट्र संघ ने बढ़ाया मदद का हाथ      ||      असम में आए भूकंप पर प्रियंका गांधी ने कहा- असम के लोगों के लिए मेरा प्यार और प्रार्थनाएं      ||      PM CARES से DRDO खड़े करेगा 500 ऑक्सीजन प्लांट      ||     

Cyclone Tauktae के बाद भारत पर एक और खतरा, चंद घंटों बाद होगा 'यास' से सामना 

Shikha Awasthi 19-05-2021 14:52:28 19 Total visiter


नई दिल्ली। अरब सागर से उठे चक्रवाती तूफान ताऊते ने गुजरात, महाराष्ट्र के कई हिस्सों में तबाही फैलाई। एक ओर जहां गुजरात में 13 लोगों की तूफान से मौत हुई तो वहीं महाराष्ट्र में 6 से ज्यादा लोगों के मारे जाने की सूचना है। इन सबके बीच भारतीय मौसम विभाग ने एक और तूफान की चेतावनी दी है। भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) के अनुसार 23-24 मई के दौरान तूफान 'यास' बंगाल की खाड़ी से टकराएगा। इस बार तूफान का नाम ओमान ने दिया है।

आईएमडी में चक्रवात विभाग की प्रभारी सुनीता देवी ने बताया कि अगले हफ्ते पूर्व-मध्य बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बनने के आसार हैं। मौसम विभाग स्थिति पर नजर रखे हुए है। उन्होंने निम्न दबाव प्रणाली तेज होने के संकेत भी दिए। देवी ने कहा कि समुद्री सतह का तापमान एसएसटी बंगाल की खाड़ी के ऊपर 31 डिग्री है। यह औसत से लगभग 1-2 डिग्री सेल्सियस ऊपर है। सभी समुद्री और वायुमंडलीय परिस्थितियां चक्रवाती तूफान के अनुकूल हैं।

उदयपुर में कमजोर हुआ ताऊते

बुधवार को आईएमडी वैज्ञानिक राजेंद्र कुमार जेनामनी ने ताऊते की ताजा स्तिथि के बारे में बताया कि, चक्रवात आज उदयपुर के पास है। कमजोर हो गया है। राजस्थान हरियाणा, दिल्ली, पश्चिम उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में बारिश होगी। हवा ज्यादा नहीं रहेगी। उत्तराखंड, पश्चिमी उत्तर प्रदेश और हरियाणा में भारी बारिश होगी। दिल्ली में कम बारिश होगी। 

वहीं मौसम विभाग ने कहा कि टाउते गुजरात के तट से बेहद गंभीर चक्रवाती तूफान के तौर पर आधी रात के करीब गुजरा और धीरे-धीरे कमजोर होकर गंभीर चक्रवाती तूफान तथा बाद में और कमजोर होकर अब 'चक्रवाती तूफान' में बदल गया है। गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने बताया कि 16, 000 से ज्यादा घरों को नुकसान पहुंचा, 40 हजार से ज्यादा पेड़ और 70 हजार से ज्यादा बिजली के खंभे उखड़ गए। जबकि 5951 गांवों में बिजली चली गई। मीडिया को जानकारी देते हुए रुपाणी ने कहा कि चक्रवात के कारण मरने वालों का आधिकारिक आंकड़ा 13 का है।

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :