इमेज टुडे - ज़िन्दगी में भर दे रंग - समाचारों का द्विभाषीय पोर्टल

देशभर में 18 साल से ऊपर के लोगों को वैक्सीनेशन के लिए आज से शुरू हो रहा रजिस्ट्रेशन      ||      लखनऊ: मेदांता अस्पताल में मरीजों की मदद के लिए प्रियंका गांधी ने भेजा ऑक्सीजन का टैंकर      ||      भारत में कोरोना की बिगड़ती स्थिति पर संयुक्त राष्ट्र संघ ने बढ़ाया मदद का हाथ      ||      असम में आए भूकंप पर प्रियंका गांधी ने कहा- असम के लोगों के लिए मेरा प्यार और प्रार्थनाएं      ||      PM CARES से DRDO खड़े करेगा 500 ऑक्सीजन प्लांट      ||     

बढ़ते संक्रमण के बीच करे इन सब का सेवन, कमजोर इम्यूनिटी करें स्ट्रोंग

pooja 26-05-2021 18:40:13 10 Total visiter


लाइफस्टाइल: देश में कोरोना के बाद अब ब्लैक फंगस के मामले बढ़ रहे हैं. इनके मामले बढ़ने की वजह कमजोर इम्यूनिटी भी है. घर में रहते हुए खानपान से भी काफी हद तक इम्यूनिटी को बढ़ाया जा सकता है. काढ़ा और आयुर्वेदिक चाय भी इसे बढ़ाने के बेहतर विकल्प हैं. तुलसी, अश्वगंधा, मसाला और लेमन-टी भी रोगों से लड़ने की क्षमता को बढ़ाती है. सेंट्रल इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिसिनल एंड एरोमैटिक प्लांट्स, लखनऊ के एक्सपर्ट आशीष कुमार बता रहे हैं घर पर आयुर्वेदिक चाय कैसे बनाएं और इनके फायदे...

तुलसी चाय

तुलसी की पत्तियों की चाय बनाने के लिए इसकी ताज़ी पत्तियां, सूखे हुए पत्ते या पाउडर को भी इस्तेमाल किया जा सकता है. तुलसी की चाय कफ, खांसी, जुकाम, अस्थमा या ब्रॉन्काइटिस से राहत दिलाती है. तुलसी की चाय में ऐसे तत्व होते हैं जो कफ और बलगम से छुटकारा दिलाते हैं. साथ ही साथ तुलसी की चाय में एंटिसेप्टिक, एंटिऑक्सिडेंट्स और एंटिबैक्टीरियल खूबियां हैं.

तुलसी की चाय बनाने के लिए सबसे पहले एक गिलास पानी उबाल लें, फिर 8 से 10 पत्तियां तुलसी की डालें. अब चाहें तो जरूरत के मुताबिक इसमें थोड़ी सी अदरक और इलायची पाउडर भी मिला सकते हैं. 10 मिनट तक इसे उबलने दें, फिर छान लें. इसमें स्वादनुसार शहद या नींबू का रस डालकर पिएं. तुलसी की चाय में दूध या चीनी न डालें तो अच्छा है क्योंकि ऐसा करने पर इसके औषधीय गुणों में कमी आ जाती है.

सूजन और संक्रमण को घटाए अश्वगंधा चाय

अश्वगंधा एक औषधीय पौधा है, इसकी जड़ का प्रयोग चाय बनाने में किया जाता है, लेकिन आजकल इसकी पत्तियों की चाय का प्रचलन बढ़ा है. आयुर्वेद के मुताबिक, अश्वगंधा की जड़ या पत्ती से बनी चाय पीने से रोगों से लड़ने की क्षमता मजबूत होती है. इसकी जड़ में एंटीऑक्सिडेंट, एंटीवेनम, एंटीइंफ्लेमेट्री और एंटीट्यूमर खूबियां होती हैं.

अश्वगंधा की चाय बनाने के लिए अश्वगंधा की जड़, शहद और नींबू की जरूरत होती है. एक गिलास पानी में एक इंच लंबी अश्वगंधा की जड़ डालकर उबाल लें. पानी उबल जाए तो उसे छान कर कप में डाल लें. अब इसमें एक छोटा चम्मच शहद और स्वादानुसार नींबू का रस मिला लें. अश्वगंधा चाय बच्चों, बुजुर्गों और महिलाएं सभी के लिए फायदेमंद है.

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :