इमेज टुडे - ज़िन्दगी में भर दे रंग - समाचारों का द्विभाषीय पोर्टल

देशभर में 18 साल से ऊपर के लोगों को वैक्सीनेशन के लिए आज से शुरू हो रहा रजिस्ट्रेशन      ||      लखनऊ: मेदांता अस्पताल में मरीजों की मदद के लिए प्रियंका गांधी ने भेजा ऑक्सीजन का टैंकर      ||      भारत में कोरोना की बिगड़ती स्थिति पर संयुक्त राष्ट्र संघ ने बढ़ाया मदद का हाथ      ||      असम में आए भूकंप पर प्रियंका गांधी ने कहा- असम के लोगों के लिए मेरा प्यार और प्रार्थनाएं      ||      PM CARES से DRDO खड़े करेगा 500 ऑक्सीजन प्लांट      ||     

Yoga: बढ़ते बच्चों को सिखाए ये एक्सरसाइज, स्वाथ्य के लिए लाभकारी

Shikha Awasthi 30-05-2021 19:09:03 12 Total visiter


Yoga Session: कोरोना के समय में कुछ व्यायाम ऐसे है जिसे करने से आप अपने आप को स्वस्थ रह सकते है. आज के योग सेशन में सूर्य नमस्कार करने का तरीका बताया और सिखाया गया. इसके अलावा भी इंजन दौड़ सहित कई सूक्ष्म व्यायाम सिखाए गए. सूर्य नमस्कार कई ऐसे आसनों का सेट है जिसमें पूरी बॉडी की कसरत हो जाती है. बड़ों के लिए सूर्य नमस्कार फायदेमंद है लेकिन बढ़ते बच्चों के लिए भी इसके कई फायदे हैं. सूर्य नमस्कार करने से बच्चों की लंबाई बढ़ती है. कोरोना काल में जब बच्चों की एक्टिविटी कम हो गई है और वो कहीं जा भी नहीं पा रहे हैं ऐसे में आप उन्हें सूर्य नमस्कार की प्रैक्टिस करवा सकते हैं. सूर्य नमस्कार उन्हें फूर्ती देगा और पुष्ट बनाएगा.

सूर्य नमस्कार

सूर्य नमस्कार आपको शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ रखता है. आइए जानते हैं सूर्य नमस्कार करने की सटीक तकनीक...

प्रणाम आसन

इस आसन को करने के लिए सबसे पहले अपने दोनों पंजे जोड़कर अपने आसन मैट के किनारे पर खड़े हो जाएं. फिर दोनों हाथों को कंधे के समान्तर उठाएं और पूरा वजन दोनों पैरों पर समान रूप से डालें. दोनों हथेलियों के पृष्ठभाग एक दूसरे से चिपकाए रहें और नमस्कार की मुद्रा में खड़े हो जाएं.

हस्त उत्तानासन

इस आसन को करने के लिए गहरी सांस भरें और दोनों हाथों को ऊपर की ओर उठाएं. अब हाथ और कमर को झुकाते हुए दोनों भुजाओं और गर्दन को भी पीछे की ओर झुकाएं.

पादहस्तासन

इस आसन में बाहर की तरफ सांस छोड़ते हुए धीरे-धीरे आगे की तरफ नीचे की ओर झुकें. अपने दोनों हाथों को कानों के पास से घुमाते हुए ज़मीन को छूएं.

अश्व संचालन आसन

इस आसन में अपनी हथेलियों को ज़मीन पर रखें, सांस लेते हुए दाएं पैर को पीछे की तरफ ले जाएं और बाएं पैर को घुटने की तरफ से मोड़ते हुए ऊपर रखें. गर्दन को ऊपर की तरफ उठाएं और कुछ देर इसी स्थिती में रहें.

सूर्य नमस्कार के फायदे

सूर्य नमस्कार करने से स्ट्रेस दूर होता है, बॉडी डिटॉक्स होती है और मोटापा घटता है. जिन महिलाओं को मासिक धर्म की समस्या है यह उनके लिए काफी लाभकारी होता है. रीढ़ की हड्डी मजबूत होती है.

कपालभारती

कपालभाति प्राणायाम करने के लिए रीढ़ को सीधा रखते हुए किसी भी ध्यानात्मक आसन, सुखासन या फिर कुर्सी पर बैठें. इसके बाद तेजी से नाक के दोनों छिद्रों से सांस को यथासंभव बाहर फेंकें. साथ ही पेट को भी यथासंभव अंदर की ओर संकुचित करें. इसके तुरंत बाद नाक के दोनों छिद्रों से सांस को अंदर खीचतें हैं और पेट को यथासम्भव बाहर आने देते हैं. कपालभारती के फायदेब्लड सर्कुलेशन अच्छा होता है: सांस संबंधी बीमारियों को दूर करमे में मदद मिलती है. विशेष रूप से अस्थमा के पेशेंट्स को खास लाभ होता है. महिलाओं के लिए बहुत लाभकारी है. अगर हर्निया, हाई बीपी या कोविड से रिकवर हुए हैं तो ये आसन ना करें.

अनुलोम विलोम

सुखासन में बैठें. इसके बाद दाएं अंगूठे से अपनी दाहिनी नासिका पकड़ें और बाई नासिका से सांस अंदर लें लीजिए. अब अनामिका उंगली से बाई नासिका को बंद कर दें. इसके बाद दाहिनी नासिका खोलें और सांस बाहर छोड़ दें. अब दाहिने नासिका से ही सांस अंदर लें और उसी प्रक्रिया को दोहराते हुए बाई नासिका से सांस बाहर छोड़ दें.

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :