इमेज टुडे - ज़िन्दगी में भर दे रंग - समाचारों का द्विभाषीय पोर्टल

कोरोनाः ICSE बोर्ड ने रद्द की 10वीं की परीक्षा, 12वीं की परीक्षा होगी ऑफलाइन      ||      अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 23 पैसे मजबूत हुआ रुपया      ||      CEC सुशील चंद्र और चुनाव आयुक्त राजीव कुमार कोरोना पॉजिटिव      ||      कोरोनाः हाईकोर्ट की फटकार के बाद एक्टिव हुई तेलंगाना सरकार, 30 अप्रैल तक नाइट कर्फ्यू      ||      कोरोनाः यूपी में वीकेंड कर्फ्यू, 500 से अधिक एक्टिव केस वाले जिलों में लगेगा नाइट कर्फ्यू      ||      यूपीः हमीरपुर जेल के डिप्टी जेलर की कोरोना से मौत, सीओ और कई डॉक्टर संक्रमित      ||      दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल की पत्नी कोरोना पॉजिटिव      ||     

बावनखेड़ी हत्याकांड: शबनम को मिली राहत, इस वजह के चलते टली फांसी

24-02-2021 17:04:57 21 Total visiter


 नई दिल्ली। परिवार के 7 लोगों की हत्या की दोषी शबनम को मंगलवार उस वक्त बड़ी राहत मिली जब उसकी फांसी की तारीख आगे के लिये टाल दी गई है। बता दें कि उत्तर प्रदेश के अमरोहा जिले की रहने वाली शबनम पर अपने ही परिवार के सात लोगों की हत्या करनी की दोषी पाई गई है। जसके लिए उसे कोर्ट से फांसी की सजा मिल चुकी है। 

दरअसल मंगलवार को जिला जज की अदालत में अमरोहा में बावनखेड़ी हत्याकांड की दोषी शबनम की फांसी पर सुनवाई हुई। जिसमें शबनम के वकील ने अदालत को बताया कि राज्यपाल के पास दया याचिका दाखिल है। जिससे अदालत ने अपने फैसले को आगे के टाल दिया है। खबरों के मुताबिक शबनम के वकील ने ऐन मौके पर  राज्यपाल के पास दया याचिका लगाकर फांसी की सजा को आगे के लिये बढ़ा दिया है।

दरअसल 2008 में शबनम प्रेमी सलीम के साथ मिलकर अपने परिवार के ही सात लोगों की हत्या कर दी। वहीं शबनम को तब गहरा झटका लगा जब सुप्रीम कोर्ट भी फांसी की सजा को बरकरार रखा। वहीं राष्ट्रपति ने भी शबनम की दया याचिका को खारिज कर दिया।    

मालूम हो कि शबनम के प्रेमी भी नैनी जेल में बंद है। उसके दया याचिका पर फैसला आना बाकी है। उधर शबनम पिछले सप्ताह अपने बेटे से मिली तो काफी देर तक रोती रही। उन्होंने अपने बेटे को अच्छा इंसान बनने की नसीहत भी दी। शबनम ने रोते हुए कहा कि उन्हें न्याय की दरकार है। उन्होंने मांग की इस मामले की सीबीआई जांच होनी चाहिये।

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :