इमेज टुडे - ज़िन्दगी में भर दे रंग - समाचारों का द्विभाषीय पोर्टल

दिल्लीः हरिद्वार कुंभ से लौटे श्रद्धालुओं को रहना होगा 14 दिन क्वारनटीन, DDMA का आदेश      ||      MP: शहडोल-मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन की कमी के चलते 6 मरीजों की मौत      ||      UP: कोरोना के चलते इस साल अयोध्या में नहीं लगेगा रामनवमी का उत्सव मेला      ||      कोरोना: भारत में पिछले 24 घंटों में कोरोना के 2,61,500 नए मामले, 1501 मरीजों की मौत      ||      कोरोना: JEE (Mains) का अप्रैल सेशन स्थगित, परीक्षा से 15 दिन पहले जारी होगी नई तारीख- NTA      ||     

कोलकाताःTMC के बाद अब बीजेपी में शामिल हुए मिथुन, जानिए क्यों लहराया झंडा

07-03-2021 21:42:09 26 Total visiter


BJP का दामन थामकर डांसिंग स्टार मिथुन चक्रवर्ती ने राजनीति में अपनी नई पारी का आगाज कर दिया है। मिथुन का राजनीति से लगाव नया नहीं है। कभी नक्सली आंदोलन से जुड़ने वाले मिथुन दा ममता बनर्जी की पार्टी TMC के सांसद भी रह चुके हैं। सारदा घोटाला सामने आने के बाद उन्होंने राजनीति को लगभग अलविदा कह दिया था। पिछले कुछ दिनों से उनके बीजेपी में आने की अटकलें लग रही थीं। मिथुन ने अपने ही अंदाज में उन पर यह कहकर विराम लगा दिया, कोई शक। एक्टर बनने से पहले मिथुन पहले नक्सली थे। लेकिन एक हादसे में भाई की मौत की वजह से उन्हें अपने परिवार के बीच लौटना पड़ा।

 इसके बाद उनके ऊपर परिवार को संभालने की जिम्मेदारी आ गई। डांस का उन्हें बहुत शौक था। उन्होंने स्टेज शोज से शुरुआत की और फिर एक्टिंग स्कूल में दाखिला लिया। फिल्म ‘मृगया’ से उन्होंने फिल्मी करियर की शुरुआत की। इस फिल्म के लिए उन्हें नेशनल अवार्ड भी मिला। अपनी पहली फिल्म को इतनी बड़ी कामयाबी दिलाने के बाद उनको लगा कि वो सुपरहिट अभिनेता बन गए हैं। लेकिन ये बात सिर्फ उनकी एक गलतफहमी थी। मृगया के बाद उनके पास फिल्मों का अकाल पड़ गया। अगले दो-तीन साल तक उन्हें सिर्फ गिनी-चुनी फिल्में ही मिलीं। वो भी फ्लॉप हो गई थीं। इसके बाद उन्होंने अभिनेता बनने का सपना छोड़ दिया। वह डांस में करियर बनाने की सोचने लगे। उन दिनों हेलन का काफी क्रेज था।

 वो तकरीबन सभी फिल्म में अपना आइटम सॉग्स करती थीं। मिथुन ने भी हेलन को ज्वाइन को कर लिया और वो उनके असिस्टेंट का काम करने लगे। उन्होंने अपना नाम भी बदल लिया। कुछ दिनों बाद उन्हें अमिताभ बच्चन की फिल्म में एक रोल मिला। इसके साथ उनकी गाड़ी चल निकली। मिथुन एक समय बॉलीवुड के उन अभिनेताओं में से एक थे, जिनके साथ हर बड़ा निर्देशक काम करना चाहता था। वो अपने डांस को लेकर हमेशा चर्चा में रहते थे। उन्हें सुपरस्टार माना जाने लगा। लेकिन कभी उन्होंने वो दिन भी देखे थे, जब उन्हें इस बात की चिंता रहती थी कि क्या वो खाना भी खा पाएंगे या नहीं। फिलहाल मिथुन ममता के साथ मिथुन का जुड़ाव 2011 के बाद तब हुआ जब टीएमसी ने बंगाल में सरकार बनाई। ममता ने मिथुन को 2014 में राज्यसभा भेजा। सब कुछ ठीक चल रहा था कि अचानक सारदा घोटाला सामने आ गया। मिथुन उस ग्रुप के ब्रांड अंबेसडर थे जो बंगाल में सारदा को चला रहा था। मामले की विवेचना के दौरान मिथुन से सवाल जवाब किए गए। 2015 में अभिनेता ने 1.19 करोड़ रुपए ईडी को लौटा दिए। यह राशि उस रकम का हिस्सा थी जो ब्रांड अंबेसडर के तौर पर उन्हें टैक्स जमा करने के बाद मिली थी। 2016 में उन्होंने राज्यसभा से त्यागपत्र दे दिया

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :