इमेज टुडे - ज़िन्दगी में भर दे रंग - समाचारों का द्विभाषीय पोर्टल

कोरोनाः ICSE बोर्ड ने रद्द की 10वीं की परीक्षा, 12वीं की परीक्षा होगी ऑफलाइन      ||      अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 23 पैसे मजबूत हुआ रुपया      ||      CEC सुशील चंद्र और चुनाव आयुक्त राजीव कुमार कोरोना पॉजिटिव      ||      कोरोनाः हाईकोर्ट की फटकार के बाद एक्टिव हुई तेलंगाना सरकार, 30 अप्रैल तक नाइट कर्फ्यू      ||      कोरोनाः यूपी में वीकेंड कर्फ्यू, 500 से अधिक एक्टिव केस वाले जिलों में लगेगा नाइट कर्फ्यू      ||      यूपीः हमीरपुर जेल के डिप्टी जेलर की कोरोना से मौत, सीओ और कई डॉक्टर संक्रमित      ||      दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल की पत्नी कोरोना पॉजिटिव      ||     

ओडिशा विधानसभा में BJP विधायक ने की सैनिटाइजर पीने की कोशिश, जानें क्या है पूरा मामला

Shikha Awasthi 13-03-2021 11:56:05 37 Total visiter


भुवनेश्वर। ओडिशा विधानसभा में किसानों से धान खरीद में कथित कुप्रबंधन को लेकर जोरदार घमासान हुआ। इसी हंगामें के बीच बीजेपी विधायक सुभाष चंद्र पाणिग्रही ने सैनिटाइजर पीने की कोशिश की। लेकिन पास बैठी बीजेपी विधायक कुसुम टेटे ने उन्हें ऐसा करने से रोक लिया।

बता दें कि देवगढ़ सीट से बीजेपी विधायक सुभाष चंद्र पाणिग्रही ने उस समय सैनिटाइजर पीने की कोशिश की जब राज्य के खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री आर पी स्वैन धान खरीद पर बयान पढ़ रहे थे। विपक्षी बीजेपी और कांग्रेस के सदस्यों ने भोजनावकाश से पहले सदन की कार्यवाही बाधित की, जिसके बाद विधानसभा अध्यक्ष एस एन पात्रो ने मंत्री से सदन में बयान देने को कहा। सदन की कार्यवाही दो बार स्थगित होने के बाद जब शाम 4 बजे फिर से शुरू हुई तो मंत्री ने बयान पढ़ना शुरू किया, तभी पाणिग्रही अपनी सीट से खड़े हुए और सैनिटाइजर की बोतल अपनी जेब से निकाली और पीने की कोशिश की। वहीं पाणिग्रही का तुरंत डॉक्टरों ने मेडिकल टेस्ट किया और कहा कि उनकी सेहत अच्छी और स्थिर है

इस पर प्रतिक्रिया देते हुए पाणिग्रही ने कहा, ‘‘मैंने पहले ही इस मुद्दे पर आत्मदाह करने की धमकी दी थी। इसके बावजूद सरकार ने किसानों की समस्या पर ध्यान नहीं दिया, जो मंडियो में धान बेचने के लिए मुश्किलों का सामना कर रहे हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ मेरे विधानसभा क्षेत्र में मुझसे पहले लोग आत्महत्या करने की धमकी दे रहे हैं, इसलिए मैंने सदन में सैनिटाइजर पीकर ऐसा करने का फैसला किया।’’

वहीं भाजपा विधायक ने कहा कि यहां तक सरकार भी किसानों के हित में कार्य करने के बड़े-बड़े दावे कर रही है लेकिन जमीनी सच्चाई अलग है. पाणिग्रही ने कहा, ‘‘ मेरे पास यह सख्त कदम उठाने के अलावा कोई विकल्प नहीं था’’

 

 

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :