इमेज टुडे - ज़िन्दगी में भर दे रंग - समाचारों का द्विभाषीय पोर्टल

सीताराम येचुरी का केंद्र पर हमला, कहा- प्राइवेट है पीएम केयर फंड      ||      दिल्ली सरकार के मंत्री कैलाश गहलोत कोरोना पॉजिटिव, ट्वीट कर दी जानकारी      ||      जम्मू कश्मीर के कुलगाम में जैश-ए-मोहम्मद के दो आतंकी गिरफ्तार      ||      यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ कोरोना पॉजिटिव, ट्वीट कर दी जानकारी      ||      यूपीः CM योगी और अखिलेश यादव को कोरोना, प्रियंका गांधी का ट्वीट- आप सुरक्षित रहें      ||     

एंटीलिया केस में बड़ा खुलासा: संदिग्ध आरोपी जिस इनोवा में हुआ था फरार वो मुंबई पुलिस की निकली

14-03-2021 14:47:50 143 Total visiter


मुंबई। देश के बड़े बिजनेसमैन मुकेश अंबानी के घर 'एंटीलिया' के सामने से बीते दिनों बिस्फोटक पदार्थ से भार  स्कॉर्पियो बरामद होने के बाद हड़कंप मच गया था। यह मामला और संगीन तब हो गया जब इस पूरे घटनाक्र में एक इनोवा कार भी संलिप्त पाई गई। अब इनोवा कार मामले को सुलझा लेने का दावा किया जा रहा है। बताया जा रहा कि एंटीलिया के बाहर दो कार पहुंची थीं एक स्कॉर्पियो और दूसरी इनोवा। ड्राइवर स्कॉर्पियो को छोड़कर इनोवा गाड़ी में बैठकर से फरार हो गया।

मुंबई के मुलुंड टोल नाके पर इनोवा में दो लोगों को देखा गया था। बताया जा रहा है कि इनोवा कार मुंबई क्राइम ब्रांच की थी। स्कॉर्पियो कार का मालिक मनसुख हिरन था, लेकिन इनोवा कार किसकी थी? इसे लेकर छानबीन चल रही थी। जांच पड़ताल में पता चला है कि यह कार क्राइम ब्रांच की थी। इनोवा कार मुंबई पुलिस की अपराध शाखा (CIU) यूनिट की है। एंटीलिया केस में फिलहाल मुंबई पुलिस के एक और अफसर रियाज काजी से पूछताछ की जा रही है।

बहरहाल, सचिन वाजे स्पेशल ब्रांच में तबादले से पहले क्राइम ब्रांच में तैनात था। शुरुआत में क्राइम ब्रांच ही इस मामले की जांच कर रहा था। सूत्रों के मुताबिक इस मामले में दो कारों का इस्तेमाल किया गया। स्कॉर्पियो कार में जिलेटिन की छड़ रखी गई थीं। एक दूसरी कार इनोवा थी जो स्कॉर्पियो के पीछे-पीछे चल रही थी। मुंबई के मुलुंड टोल नाके पर इनोवा को देखा गया था। मुंबई के चेंबूर इलाके में इनोवा और स्कॉर्पियो कार एक साथ मिलीं और फिर दोनों एंटीलिया की तरफ कारमाइकल रोड की तरफ बढ़ीं।

NIA सूत्रों ने बताया कि दोनों गाड़ियां एंटीलिया के बाहर पहुंचीं। स्कॉर्पियो को बाहर खड़ा कर दिया गया और उसका ड्राइवर इनोवा में बैठकर फरार हो गया। स्कॉर्पियो में जिलेटिन की छड़ें थीं। बाद में इनोवा कार को मुलुंड टोल नाके को पार करते और ठाणे में एंट्री करते देखा गया। ठाणे में एंट्री के बाद इनोवा कार का पता नहीं चल पाया थ।  दिलचस्प बात यह है कि सचिन वाजे और मनसुख हिरन दोनों ठाणे के रहने वाले हैं।

मामले की जांच में जुटी NIA के लिए चौंकाने वाले बात यह थी कि स्कॉर्पियो कार सचिन वाजे के पास जो 17 फरवरी को चोरी हो गई थी। फिलहाल जांच अधिकारी CCTV फुटेज खंगाल रहे हैं। वाजे के घर के बाहर लगे सीसीटीवी फुटेज खंगाले जा रहे हैं।

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :