इमेज टुडे - ज़िन्दगी में भर दे रंग - समाचारों का द्विभाषीय पोर्टल

सीताराम येचुरी का केंद्र पर हमला, कहा- प्राइवेट है पीएम केयर फंड      ||      दिल्ली सरकार के मंत्री कैलाश गहलोत कोरोना पॉजिटिव, ट्वीट कर दी जानकारी      ||      जम्मू कश्मीर के कुलगाम में जैश-ए-मोहम्मद के दो आतंकी गिरफ्तार      ||      यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ कोरोना पॉजिटिव, ट्वीट कर दी जानकारी      ||      यूपीः CM योगी और अखिलेश यादव को कोरोना, प्रियंका गांधी का ट्वीट- आप सुरक्षित रहें      ||     

जिला जज को टोल मैनेजर ने पढ़ाया नियम का पाठ, सोशल मीडिया पर हुआ वायरल यह 6 माह पुराना वीडियो

14-03-2021 16:48:55 120 Total visiter


बरेली। सोशल मीडिया पर हर दिन कोई न कोई वीडियो और तस्वीरें वायरल होती रहती हैं। इनमें से कई वीडियो और तस्वीरें ऐसे भी होती हैं जिन्‍हें देखकर आश्चार्य भी होता है साथ ही सीख भी मिलती है। ऐसा ही एक पुराना वीडियो इन दिनों सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। जिसे भारत पुनरुत्‍थान नामक ट्विटर हैंडल से शेयर किया गया है।

दावा किया जा रहा है कि इस वीडियो में दिख रही कार में जज बैठे थे। जो मध्य प्रदेश और राजस्थान में कई टोल प्लाजा पर बिना टोल टैक्स देकर यात्रा कर रहे थे। इस दौरान उन्हें बरेली और मुरादाबाद के बीच पड़े एक टोल पर नियम का पालन न करना काफी भारी पड़ गया। इस प्रकरण में टोल मैनेजर ने जिला जज को नियम का ऐसा पाठ पढ़ाया कि उनको 80 रुपया टोल देकर ही गाड़ी को आगे ले जाना पड़ा। यह वीडियो इंटरनेट मीडिया पर काफी ट्रोल कर रहा है।

दरसअल जिला जज टोल पर बिना टोल टैक्स दिए गाड़ी आगे ले जाने की जिद करने लगे तो उनके पीछे वाहनों की लाइन लगने लगी तो टोल मैनेजर को मोर्चे पर आना पड़ा। मैनेजर ने उनको टोल टैक्स अदा करने को कहा, लेकिन जब जिला जज जिद पर अड़े तो टोल मैनेजर ने भी काफी सख्त लहजे में कहा कि नियम से बढ़कर न्यायालय भी नहीं है। 

मैनेजर ने कहा कि देश में लोगों के पास अधिकार हैं, लेकिन अधिकारों का फायदा उठाने वालों की भी कमी नहीं है। इंटरनेट मीडिया पर वायरल हुए एक वीडियो में टोल विवाद को लेकर एक जिला जज की जमकर खिल्ली उड़ाई जा रही है।

दरसअल टोल बूथ पर जिला जज अपनी नौकरी की धौंस दिखाते हुए पैसे देने से इंकार कर रहे थे। उनकी दलील थी कि वह राजस्थान और मध्य प्रदेश से होकर आ रहे हैं और उन्होंने वहां भी टोल नहीं दिया। विवाद बढऩे पर टोल मैनेजर ने आकर उनको नियम के साथ कानून का पाठ पढ़ा दिया। 

टोल मैनेजर ने उनकी क्लास लगा दी। टोल मैनेजर ने कहा कि अधिकारों के मुताबिक हाई कोर्ट के जज के लिए टोल देना माफ है लेकिन आप डिस्ट्रिक्ट कोट से हैं और आपने अपनी जिद के कारण लेन जाम कर दी है।

जज की दलील थी कि वह मध्य प्रदेश और राजस्थान से आ रहे हैं और उन्होंने वहां भी टोल नहीं दिया इस पर मैनेजर ने कहा कि आपने अपने अधिकारों का गलत फायदा उठाया है और नियम से बढ़कर न्यायालय भी नहीं है। आप 80 रुपये दीजिए। यहां आपको टोल देना होगा। जिला जज ने 10 मिनट से टोल पर गाड़ी खड़ी करने के दौरान भी टोल मैनेजर के साथ खूब बहस की लेकिन मैनेजर ने बातों ही बातों में जज को झाड़ा।

टोल मैनेजर ने कहा कि आप जैसे लोग देश को बर्बाद कर रहे हैं और गलत लड़ाई लड़ रहे हैं। मैनेजर ने कहा कि अगर आप इतने कल्चर्ड होते तो पहले गाड़ी को साइड में लगाते उसके बाद यह बातचीत करते। इसके बाद इंटरनेट मीडिया टोल मैनेजर की प्रशंसा करने लगा। 

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :