इमेज टुडे - ज़िन्दगी में भर दे रंग - समाचारों का द्विभाषीय पोर्टल

कोरोनाः ICSE बोर्ड ने रद्द की 10वीं की परीक्षा, 12वीं की परीक्षा होगी ऑफलाइन      ||      अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 23 पैसे मजबूत हुआ रुपया      ||      CEC सुशील चंद्र और चुनाव आयुक्त राजीव कुमार कोरोना पॉजिटिव      ||      कोरोनाः हाईकोर्ट की फटकार के बाद एक्टिव हुई तेलंगाना सरकार, 30 अप्रैल तक नाइट कर्फ्यू      ||      कोरोनाः यूपी में वीकेंड कर्फ्यू, 500 से अधिक एक्टिव केस वाले जिलों में लगेगा नाइट कर्फ्यू      ||      यूपीः हमीरपुर जेल के डिप्टी जेलर की कोरोना से मौत, सीओ और कई डॉक्टर संक्रमित      ||      दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल की पत्नी कोरोना पॉजिटिव      ||     

सोमनाथ मंदिर के पीछे खड़े होकर गजनवी की तारीफ करना मौलाना को पड़ा भारी, तलाश में जुटी पुलिस

16-03-2021 14:41:20 182 Total visiter


अहमदाबाद। गुजरात स्थित सोमनाथ मंदिर को मुगल शासक महमूद गजनवी के द्वारा बार-बार लूटे जाने की तारीफ करते हुए वीडियो बनाना एक मौलाना को भारी पड़ गया है। दरअसल, मौलान मंदिर के पीछे समुद्र तट पर खड़ा होकर सोमनाथ मंदिर को लूटने वाले मुगल शासक महमूद गजनवी की तारीफ करते हुए एक सेल्फी वीडियो सूट किया था, जो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। इसके बाद हरकत में आई पुलिस ने मौलाना की तलाश तेज कर दी है।

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, सोमनाथ मंदिर ट्रस्ट के ट्रस्टी हैं। इस वीडियो के वायरल होने के बाद ट्र्स्ट ने गिरसोमनाथ पुलिस अधीक्षक को शिकायत अर्जी दी है और पुलिस इस शख्स को ढूंढ़ने में लग गई है। पुलिस ने आरोपी मौलाना के खिलाफ केस भी दर्ज कर लिया है और तलाश जारी है।

गौरतलब है कि सोमनाथ मंदिर पर अबतक हुए हमलों का जिक्र करते मौलाना ने अपने वीडियो में कई भड़काऊ बयान दिया। वीडियो वायरल होने के बाद ट्रस्ट ने पुलिस में शिकायत की। मिली जानकारी के मुताबिक, मौलाना की पहचान हो चुकी है और उसे जल्द गिरफ्तार करने का पुलिस दावा कर रही है।

गुजरात के वेरावल में स्थित सोमनाथ मंदिर का निर्माण स्वयं चंद्रदेव ने किया था। ऋगवेद, स्कंदपुराण और महाभारत में भी इस मंदिर की महिमा बताई गई है। अत्यंत वैभवशाली सोमनाथ मंदिर को इतिहास में कई बार खंडित किया गया लेकिन बार-बार पुनर्निर्माण कर सोमनाथ के अस्तित्व को मिटाने की कोशिश नाकाम हुई।

सोमनाथ मंदिर के समृद्ध और अत्यंत वैभवशाली होने की वजह से इस मंदिर को कई बार मुस्लिम आक्रमणकारियों और पुर्तगालियों द्वारा तोड़ा गया। साथ ही कई बार इसका पुनर्निर्माण भी हुआ है। महमूद गजनवी द्वारा इस मंदिर पर आक्रमण करना इतिहास में काफी चर्चित है। इसी आक्रमण की मौलाना तारीफ कर रहा था।

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :