इमेज टुडे - ज़िन्दगी में भर दे रंग - समाचारों का द्विभाषीय पोर्टल

सीताराम येचुरी का केंद्र पर हमला, कहा- प्राइवेट है पीएम केयर फंड      ||      दिल्ली सरकार के मंत्री कैलाश गहलोत कोरोना पॉजिटिव, ट्वीट कर दी जानकारी      ||      जम्मू कश्मीर के कुलगाम में जैश-ए-मोहम्मद के दो आतंकी गिरफ्तार      ||      यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ कोरोना पॉजिटिव, ट्वीट कर दी जानकारी      ||      यूपीः CM योगी और अखिलेश यादव को कोरोना, प्रियंका गांधी का ट्वीट- आप सुरक्षित रहें      ||     

बिहार: भाई के बाद अब मंत्री के बेटे पहुंचे सरकारी कार्य योजना का निरीक्षण करने, मचा हंगामा

16-03-2021 15:19:08 162 Total visiter


पटना। बिहार की नितीश सरकार पर विपक्ष लगातार किसी न किसी मुद्दे पर हमला कर रही है। अभी मंत्री मुकेश सहनी के भाई का सरकारी कार्यक्रम में शिरकत करने का मामला थमा भी नहीं था कि अब एक और मामला सामने आया है, जहां मंत्री के बेटे नल-जल योजना का निरीक्षण करने पहुंच गए।

दरअसल, बिहार सरकार में मंत्री रामप्रीत पासवान के बेटे पूर्णिया जिले में कई पंचायतों में नल-जल योजना का निरीक्षण करने पहुंचे। अब मंत्री के बेटे की तस्वीरें सोशल मीडिया पर सुर्खियां बटोर रही हैं। 

मंगलवार को बिहार विधानमंडल में विपक्ष ने इसपर जमकर बवाल किया। शून्यकाल के दौरान कांग्रेस-राजद सदस्य सदन में अखबार लेकर पहुंचे और सरकार के खिलाफ नारेबाजी की।

यहां जैसे ही शून्यकाल की शुरुआत हुई, तो कांग्रेस नेता प्रेमचंद्र मिश्रा ने अखबार की खबर दिखाते हुए सरकार पर सवाल दागे। सवाल न पूछे दिए जाने से नाराज़ विपक्षी नेता अखबार लेकर वेल में पहुंच गए और हंगामा करने लगे।

वहीं, सदन में तब मंत्री रामप्रीत पासवान भी खड़े होकर विरोधियों को जवाब दे रहे थे। अपने बेटे का बचाव करते हुए उन्होंने कहा कि उनका बेटा उनके साथ गया था, इसमें किसी को क्या आपत्ति है? हालांकि, विधान परिषद सभापति अवधेश नारायण सिंह ने विपक्षी नेताओं को सीट पर जाने और ये सवाल पूछने के लिए उचित समय दिए जाने की बात कही। 

सिर्फ विधानपरिषद ही नहीं बल्कि विधानसभा में भी ये मसला जमकर उठा। RJD विधायक ललित यादव ने जैसे ही इस मुद्दे को उठाया, विधानसभा अध्यक्ष ने साफ लहजों में इस मुद्दे पर चर्चा से इंकार कर दिया।

विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा ने विधायक को नियमावली के अनुसार किसी मंत्री या सदस्य पर आरोप लगाने के लिए पुख्ता सबूतों के साथ अध्यक्ष को पहले से लिखित में सूचना देने की नसीहत दी।

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :