इमेज टुडे - ज़िन्दगी में भर दे रंग - समाचारों का द्विभाषीय पोर्टल

कोरोनाः ICSE बोर्ड ने रद्द की 10वीं की परीक्षा, 12वीं की परीक्षा होगी ऑफलाइन      ||      अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 23 पैसे मजबूत हुआ रुपया      ||      CEC सुशील चंद्र और चुनाव आयुक्त राजीव कुमार कोरोना पॉजिटिव      ||      कोरोनाः हाईकोर्ट की फटकार के बाद एक्टिव हुई तेलंगाना सरकार, 30 अप्रैल तक नाइट कर्फ्यू      ||      कोरोनाः यूपी में वीकेंड कर्फ्यू, 500 से अधिक एक्टिव केस वाले जिलों में लगेगा नाइट कर्फ्यू      ||      यूपीः हमीरपुर जेल के डिप्टी जेलर की कोरोना से मौत, सीओ और कई डॉक्टर संक्रमित      ||      दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल की पत्नी कोरोना पॉजिटिव      ||     

कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए इस शहर में बढ़ा नाइट कर्फ्यू का समय, गाइडलाइंस का नहीं हो रहा पालन

Shikha Awasthi 18-03-2021 15:30:24 156 Total visiter


पंजाब। देश में लगातार कोरोना के मामलों में तेजी आ रही है जिसको देखते हुए पंजाब में कुछ दिन पहले कुछ जगहों पर नाइट कर्फ्यू लगाने का सरकार ने ऐलान किया था। ये समय रात 11 बजे से सुबह 5 बजे तक था। वहीं अब कोरोना मामलों में और तेजी को देखते हुए जिस जगह पर नाइट कर्फ्यू था वहां पंजाब की कैप्टन अमरिंदर सिंह सरकार ने वहां समय को बढ़ाने का ऐलान किया है। अब रात 11 बजे के बजाय रात को 9 बजे से ही बाहर निकलने पर पाबंदी रहेगी। सुबह 5 बजे तक पाबंदी जारी रहेगी। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने गुरुवार को चंडीगढ़ में यह जानकारी दी। 

बता दें कि लुधियाना, पटियाला, मोहाली, जालंधर, कपूरथला, रोपड़, अमृतसर, फिरोजपुर और फतेहगढ़ साहिब में कर्फ्यू का समय बढ़ाया गया है। सीएम ने कहा कि जिन जिलों में कोरोना के 100 से ज्यादा मामले हैं, वहां नाइट कर्फ्यू लगेगा।

बता दें कि पंजाब में लगातार कोरोना वायरस का प्रकोप बढ़ता जा रहा है। इस महामारी की वजह से 35 और लोगों की मौत हो गई, जबकि 2039 नए केस सामने आए हैं। बीते 24 घंटे के दौरान सबसे ज्यादा 277 नए केस जालंधर जिले में दर्ज किए गए हैं। राज्य में कोरोना वायरस से मरने वाले लोगों की कुल संख्या 6172 हो गई है। इस समय कुल 13320 मरीजों को अस्पतालों में दाखिल किया गया है। इनमें 283 मरीज ऑक्सीजन सपोर्ट पर और 27 वेंटिलेटर पर हैं। 

वहीं केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने कहा कि पंजाब में संक्रमण की दर अब 6.8 फीसदी है। यह चिंताजनक है। उन्होंने कहा कि इससे यह पता चलता है कि कोरोना गाइडलाइंस का उचित पालन नहीं किया जा रहा है।

 

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :