इमेज टुडे - ज़िन्दगी में भर दे रंग - समाचारों का द्विभाषीय पोर्टल

कोरोनाः ICSE बोर्ड ने रद्द की 10वीं की परीक्षा, 12वीं की परीक्षा होगी ऑफलाइन      ||      अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 23 पैसे मजबूत हुआ रुपया      ||      CEC सुशील चंद्र और चुनाव आयुक्त राजीव कुमार कोरोना पॉजिटिव      ||      कोरोनाः हाईकोर्ट की फटकार के बाद एक्टिव हुई तेलंगाना सरकार, 30 अप्रैल तक नाइट कर्फ्यू      ||      कोरोनाः यूपी में वीकेंड कर्फ्यू, 500 से अधिक एक्टिव केस वाले जिलों में लगेगा नाइट कर्फ्यू      ||      यूपीः हमीरपुर जेल के डिप्टी जेलर की कोरोना से मौत, सीओ और कई डॉक्टर संक्रमित      ||      दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल की पत्नी कोरोना पॉजिटिव      ||     

चीन के बाद अब पाकिस्तान ने टेके घुटने, सीमा पर शांति बनाए रखने के लिए की भारत से बात

25-02-2021 14:23:22 43 Total visiter


नई दिल्ली। लाइन ऑफ कंट्रोल (LOC) पर शंति बहाली के लिए  भारत और पाकिस्तान के मिलिट्री ऑपरेशन्स के डायरेक्टर जनरलों (DGMO) ने हॉटलाइन के मध्यम से एक दूसरे से बातचीत की। दोनों देश में सीमा पर तनाव कम करने और  शांति बनाए रखने को लेकर सहमति जताई है। नियंत्रण रेखा पर मौजूदा स्थिति की समीक्षा करते हुए, दोनों ओर की सेनाओं ने सभी समझौतों, युद्धविराम का कड़ाई से पालन के लिए सहमति व्यक्त की। ये 24-25 फरवरी की मध्यरात्रि से प्रभावी है। इस तरह LAC के बाद LoC पर शांति की पहल हो रही है।

पाक के साथ क्या बनी सहमति?

भारत और पाकिस्तान ने नियंत्रण रेखा और अन्य सभी क्षेत्रो में स्वतंत्र, स्पष्ट और सौहार्दपूर्ण वातावरण की समीक्षा की। दोनों ओर के DGMO सीमाओं के साथ पारस्परिक रूप से स्थायी शांति कायम करने को लेकर सहमत हुए हैं। दोनों पक्षों ने नियंत्रण रेखा को लेकर किए गए सभी समझौतों, संघर्ष विराम आदि का कड़ाई से पालन करने पर सहमति जताई। इसके अलावा दोनों तरफ के DGMO ने इस बात को दोहराया कि किसी भी अप्रत्याशित स्थिति या गलतफहमी को हल करने के लिए हॉटलाइन पर बात और बॉर्डर फ्लैग मीटिंग के मौजूदा तंत्र का उपयोग किया जाएगा। इस बाबत दोनों पक्षों ने साझा बयान जारी किया है। 

इससे पहले हाल ही में भारत और चीन ने एलएसी पर पेंगोंग लेक के फिंगर एरिया में शांति के लिए समझौता किया था। उसके बाद चीन की सेनाओं पिछले साल की स्थिति में लौट गई थीं। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने संसद में इस समझौते का ऐलान किया था और कहा था कि दुनिया जान चुकी है कि हथियार की भाषा अब नहीं चलेगी। 

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :