इमेज टुडे - ज़िन्दगी में भर दे रंग - समाचारों का द्विभाषीय पोर्टल

कोरोनाः ICSE बोर्ड ने रद्द की 10वीं की परीक्षा, 12वीं की परीक्षा होगी ऑफलाइन      ||      अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 23 पैसे मजबूत हुआ रुपया      ||      CEC सुशील चंद्र और चुनाव आयुक्त राजीव कुमार कोरोना पॉजिटिव      ||      कोरोनाः हाईकोर्ट की फटकार के बाद एक्टिव हुई तेलंगाना सरकार, 30 अप्रैल तक नाइट कर्फ्यू      ||      कोरोनाः यूपी में वीकेंड कर्फ्यू, 500 से अधिक एक्टिव केस वाले जिलों में लगेगा नाइट कर्फ्यू      ||      यूपीः हमीरपुर जेल के डिप्टी जेलर की कोरोना से मौत, सीओ और कई डॉक्टर संक्रमित      ||      दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल की पत्नी कोरोना पॉजिटिव      ||     

1 अप्रैल से इनकम टैक्स के नियमों में होने जा रहे हैं बदलाव, जानें क्या होंगे नए नियम

Shikha Awasthi 19-03-2021 11:05:44 32 Total visiter


नई दिल्ली। इस साल 1 अप्रैल 2021 से इनकम टैक्स के नियमों में कुछ बदलाव किए जाएंगे। ऐसे में इनसे जुड़े नियमों की जानकारी होना आपके बेहद जरुरी हो जाता है। बता दें कि बजट में कर्मचारी भविष्य निधि (EPF) पर मिलने वाले ब्याज पर टैक्स का ऐलान किया गया था। इस दौरान कहा गया था कि वित्त वर्ष 2021-22 से 2.5 लाख रुपये तक ईपीएफ निवेश पर कोई टैक्स नहीं लगेगा।

बता दें कि इस नियमों के तहत 1 अप्रैल 2021 के बाद से 75 साल से ज्यादा की उम्र के लोगों को आईटीआर नहीं भरना होगा। उन्हें इससे छूट मिलेगी। वहीं एक निश्चित कॉन्ट्रिब्‍यूशन के बाद EPF पर मिलने वाले ब्‍याज पर टैक्‍स लगेगा। तो चलिए जानते है कि 1 अप्रैल से किन-किन नियमों में बदलाव होगा। और धारकों पर इनका क्या प्रभाव पड़ेगा।

बता दें कि इस साल बजट में कर्मचारी भविष्य निधि (EPF) पर मिलने वाले ब्याज पर टैक्स का ऐलान किया गया था। इस दौरान कहा गया था कि वित्त वर्ष 2021-22 से 2.5 लाख रुपये तक ईपीएफ निवेश पर कोई टैक्स नहीं लगेगा। हालांकि इससे ज्यादा रकम होने पर टैक्स देना होगा। मतलब ये हुआ कि अगर आप एक साल में EPF में 2.5 लाख रुपये से ज्यादा का योगदान करते हैं तो आपको नए सिरे से टैक्स प्लानिंग करनी होगी।

बता दें कि समय पर इनकम टैक्स रिटर्न फाइन नहीं करने पर 1 अप्रैल 2021 से दोगुना टीडीएस भरना पड़ेगा। इसके तहत आयकर अधिनियम के प्रस्तावित सेक्शन 206AB के तहत हाई टीडीएस रेट वसूला जाएगा। नए नियमों के तहत इनकम टैक्स रिटर्न फाइल नहीं करने वालों पर टैक्स कलेक्शन ऐट सोर्स (TCS) भी ज्यादा होगा।

वहीं 1 अप्रैल 2021 से ट्रेवल लीव कंसेशन (LTC) कैश वाउचर स्कीम का लाभ भी लिया जा सकेगा। हालांकि इस स्कीम का लाभ उन कर्मचारियों को मिल सकेगा, जिन्होंने कोरोना महामारी के कारण यात्रा प्रतिबंध की वजह से एलटीएस टैक्स बेनिफिट का लाभ नहीं लिया है।

वहीं 1 अप्रैल 2021 से आईटीआर की प्रक्रिया को थोड़ा और आसान बनाया जाएगा। दरअसल, कर्मचारियों की सहूलियत और इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने की प्रकिया को आसान बनाने के लिए इंडिविजुअल करदाताओं को 1 अप्रैल से पहले से भरे हुए ITR फॉर्म उपलब्ध कराए जाएंगे। इससे आईटीआर भरना आसान हो जाएगा।

 

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :