इमेज टुडे - ज़िन्दगी में भर दे रंग - समाचारों का द्विभाषीय पोर्टल

कोरोनाः ICSE बोर्ड ने रद्द की 10वीं की परीक्षा, 12वीं की परीक्षा होगी ऑफलाइन      ||      अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 23 पैसे मजबूत हुआ रुपया      ||      CEC सुशील चंद्र और चुनाव आयुक्त राजीव कुमार कोरोना पॉजिटिव      ||      कोरोनाः हाईकोर्ट की फटकार के बाद एक्टिव हुई तेलंगाना सरकार, 30 अप्रैल तक नाइट कर्फ्यू      ||      कोरोनाः यूपी में वीकेंड कर्फ्यू, 500 से अधिक एक्टिव केस वाले जिलों में लगेगा नाइट कर्फ्यू      ||      यूपीः हमीरपुर जेल के डिप्टी जेलर की कोरोना से मौत, सीओ और कई डॉक्टर संक्रमित      ||      दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल की पत्नी कोरोना पॉजिटिव      ||     

आर.अश्विन ने टेस्ट क्रिकेट में 400 विकेट लेने वाले बने चौथे भारतीय गेंदबाज, जोफ्रा आर्चर को बनाया शिकार

25-02-2021 18:51:28 72 Total visiter


अहमदाबाद। टीम इंडिया के ऑफ स्पिन गेंदबाज आर. अश्विन का टेस्ट क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन जारी है। अपना 77वां टेस्ट मैच खेल रहे अश्विन ने यह उपलब्धि तीसरे टेस्ट के दूसरे दिन जोफ्रा आर्चर को आउट कर हासिल की।  अश्विन ने टेस्ट क्रिकेट में 400 विकेट ले लिए हैं। उन्होंने जोफ्रा आर्चर को LBW आउट कर ये कारनामा किया। इंग्लैंड को उन्होंने सातवां झटका दिया है। 68 के स्कोर पर इंग्लैंड का सातवां विकेट गिरा है। अश्विन 400 विकेट लेने वाले चौथे भारतीय गेंदबाज हो गए हैं। 

आर अश्विन कपिल देव से पीछे हैं जिन्होंने टेस्ट में रिचर्ड हैजली का रिकॉर्ड मोटेरा (अब नरेंद्र मोदी स्टेडियम) पर ही तोड़ा था। अपना 131वां टेस्ट खेल रहे कपिल ने 434 विकेट लेकर उस समय सर्वाधिक टेस्ट विकटों का रिकॉर्ड बनाया था। इसके अलावा वह जल्द टेस्ट मैचों में 417 विकेट चटका चुके हरभजन सिंह से पीछे हैं । जिस स्तर की वह गेंदबाजी कर रहे हैं वह जल्दी ही हरभजन सिंह से आगे निकल जाएंगे जिन्होंने कुल 103 टेस्ट खेले हैं। 

उनको अगर मशक्कत करनी पड़ेगी तो सिर्फ भारत की ओर से सर्वाधिक टेस्ट विकेट चटकाने वाले अनिल कुंबले से , जो कि 619 विकेट चटका चुके हैं।कुंबले ने अपने करियर में 132 मैच खेले हैं। दिलचस्प बात यह है कि इन सभी नामों से तुलना करें तो अश्विन ने दूसरे सबसे कम टेस्ट मैचों में 400 विकेट लिए हैं। अश्विन की फिटनेस देखकर लगता है कि वह इन नामों से कहीं आगे निकलने वाले हैं।

आर अश्विन गेंद से ही नहीं बल्ले से भी टीम इंडिया के लिए बहुत महत्वपूर्ण खिलाड़ी हैं। दूसरे टेस्ट में अश्विन ने न केवल 5 विकेट लिए थे बल्कि बल्ले से शतक भी जड़ा था। साल 2011 में अपने टेस्ट करियर की शुरुआत कर चुके आर अश्विन को इस टेस्ट में 400 विकेट तक पहुंचने के लिए 9 विकटों की जरूरत थी जो उन्होंने दो दिनों में पूरी कर ली।

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :