इमेज टुडे - ज़िन्दगी में भर दे रंग - समाचारों का द्विभाषीय पोर्टल

कोरोनाः ICSE बोर्ड ने रद्द की 10वीं की परीक्षा, 12वीं की परीक्षा होगी ऑफलाइन      ||      अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 23 पैसे मजबूत हुआ रुपया      ||      CEC सुशील चंद्र और चुनाव आयुक्त राजीव कुमार कोरोना पॉजिटिव      ||      कोरोनाः हाईकोर्ट की फटकार के बाद एक्टिव हुई तेलंगाना सरकार, 30 अप्रैल तक नाइट कर्फ्यू      ||      कोरोनाः यूपी में वीकेंड कर्फ्यू, 500 से अधिक एक्टिव केस वाले जिलों में लगेगा नाइट कर्फ्यू      ||      यूपीः हमीरपुर जेल के डिप्टी जेलर की कोरोना से मौत, सीओ और कई डॉक्टर संक्रमित      ||      दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल की पत्नी कोरोना पॉजिटिव      ||     

इतिहास में पहली बार बिहार सदन में जमकर हुआ मारपीट, जानिए किस विधेयक को लेकर हुआ बवाल

24-03-2021 12:44:48 34 Total visiter


न्यूज डेस्क। बिहार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार के एक विधेयक को लेकर सदन में खुब बवाल मचा हुआ है। इस विधेयक के विरोध में मंगलवार को बिहार विधानसभा में बवाल हुआ। हंगामा इतना कि पुलिस तक पहुंच गयी और विधेयक के विरोध में उग्र प्रदर्शन कर रहे विपक्ष के सदस्यों के साथ मारपीट भी हो गई। सदन में विधायकों के साथ मारपीट का वीडियो वायरल हो रहा है। बताया जा रहा है कि विधानसभा के इतिहास में पहली बार इस तरह का बवाल हुआ है।

तो सवाल ये है कि आखिर नीतीश सरकार के इस विधेयक में ऐसा क्या है जिसका विपक्ष इतना ज्यादा विरोध कर रहा है।

तो जवाब ये है कि इस विधेयक का नाम है बिहार विशेष सशस्त्र पुलिस बल, 2021। बिहार में विशेष ससश्स्त्र पुलिस बल को विशेष अधिकार देने के लिए सरकार इस विधेयक को ला रही है। बिहार का यह बल केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (CISF)की तर्ज पर होगा जो राज्य में स्थित औद्योगिक इकाइयों की सुरक्षा करेगा।

नये प्रावधान में सीआईएसएफ की तर्ज पर विशेष सशश्त्र बल को तलाशी और गिरफ्तारी का अधिकार होगा। बताया गया है कि ये केवल औद्योगिक इकाइयों की सुरक्षा में ही लागू होगा। सामान्य पुलिस को ये अधिकार नहीं मिलेंगे लेकव विपक्ष इसे काला कानून बताने में जुटा है।

गौरतलब है कि यह विधेयक पिछले हफ्ते विधानसभा में पेश किया गया था. यह बिहार मिलिट्री पुलिस का नाम बदलने का प्रस्ताव करता है, उसे कहीं अधिक शक्तियां देता है और कथित तौर पर बगैर वारंट के लोगों को गिरफ्तार करने का उसे अधिकार देता है।

 

 

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :