इमेज टुडे - ज़िन्दगी में भर दे रंग - समाचारों का द्विभाषीय पोर्टल

सीताराम येचुरी का केंद्र पर हमला, कहा- प्राइवेट है पीएम केयर फंड      ||      दिल्ली सरकार के मंत्री कैलाश गहलोत कोरोना पॉजिटिव, ट्वीट कर दी जानकारी      ||      जम्मू कश्मीर के कुलगाम में जैश-ए-मोहम्मद के दो आतंकी गिरफ्तार      ||      यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ कोरोना पॉजिटिव, ट्वीट कर दी जानकारी      ||      यूपीः CM योगी और अखिलेश यादव को कोरोना, प्रियंका गांधी का ट्वीट- आप सुरक्षित रहें      ||     

अब मुख्तार अंसारी को पंजाब से यूपी लाएगी पुलिस, सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर होगी कार्रवाई

26-03-2021 15:14:24 36 Total visiter


नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश के कुख्यात अंडरवर्ल्ड डॉन और पंजाब की जेल में बंद विधायक मुख्तार अंसारी के केस पर सुनावाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने ने बड़ा फैसला सुनाया है। अब मुख्तार अंसारी को पंजाब से वापस उत्तर प्रदेश लौटना होगा। कोर्ट ने माफिया डॉन को दो हफ्ते के अंदर वापस उत्तर प्रदेश भेजने का आदेश दिया है। यूपी में मुख्तार अंसारी को किसी और जेल में रखना है, इसे तय करने का निर्णय प्रयागराज की विशेष एमपी/एमएलए कोर्ट को छोड़ा गया है।

माफिया डॉन फिलहाल पंजाब के रोपड़ की जेल में बंद है। माफिया मुख्तार अंसारी अपने खिलाफ दर्ज 2 एफआईआर के आधार पर 2 साल से पंजाब में हैं। लेकिन उत्तर प्रदेश में भी उसके खिलाफ दर्जनों मामले दर्ज हैं। हत्या, गैंगस्टर एक्ट जैसे जघन्य अपराधों के भी कई मुकदमे उस पर चल रहे हैं। यूपी सरकार कई मामलों में सुनवाई के लिए मुख्तार को वापस लाना चाहती है, लेकिन पंजाब सरकार इसमें अड़ंगा डालती रही थी। कई बार यूपी पुलिस माफिया डॉन को वापस लाने के लिए पंजाब गई। मगर उसे पंजाब से खाली हाथ लौटना पड़ा।

पंजाब सरकार पर मुख्तार अंसारी का बचाव करने का आरोप लगे। बाद में इस मसले को लेकर यूपी सरकार को सुप्रीम कोर्ट जाना पड़ा। उत्तर प्रदेश सरकार ने पहले सुप्रीम कोर्ट से पहल किया था कि वह अंसारी, जो राज्य में हत्याओं और अपहरण के कई मामलों का सामना कर रहे हैं, उन्हें उत्तर प्रदेश में स्थानांतरित करने के लिए पंजाब सरकार को निर्देश दिया जाए। इस बीच बीते दिनों मुख्तार अंसारी के मसले पर पंजाब और यूपी सरकार के बीच टकराव देखने को मिला था।

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :