जानिए क्यों प्रियंका गांधी लखनऊ लौटते ही बहराइच के लिए हो गईं रवाना ?

0 237

लखनऊ। यूपी में कांग्रेस को खड़ी करने के लिए कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी अपने हाथ से कोई भी मौका गंवाना नहीं चाहती हैं। जिसके चलते लखीमपुर से लखनऊ लौटी प्रियंका गांधी यहां से तत्काल बहराइच के लिए निकल पड़ी हैं। गौरतलब है कि रविवार को लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा में मरने वाले एक सिख का परिवार बहराइच में भी रहता है। इस परिवार से मुलाकात कर प्रियंका पूर्वांचल की तराई बेल्ट में भी अपना समर्थन जुटाएंगी।

दरअसल अगले साल यूपी में विधानसभा चुनाव होने हैं, जिसके लिए प्रियंका गांधी अपने सोये हुए संगठन को जगाने के साथ ही साथ जनता का समर्थन जुटाने में जुटी हैं। पार्टी के लोगों की मानें तो प्रियंका गांधी अब यूपी की राजनीति में दिलचस्पी ले रही हैं और लखीमपुर खीरी कांड से उन्होंने राज्य में अपनी पार्टी के संगठन के नेताओं और कार्यकर्ताओं में फिर से तीन दशक पहले वाला जोश भर दिया है। कांग्रेस के नेताओं और कार्यकर्ताओं में एक बढ़ी उम्मीद इससे जागी है और अब वह लोगों के बीच जाकर उनसे मिलते दिख रहे हैं।

फ़िलहाल कांग्रेस को इससे बहुत बड़ा फायदा मिल सकता है। इसलिए प्रियंका अपने हाथ से कोई भी मौका जाने नहीं देना चाहती हैं। यही वजह है लखीमपुर से लौटते ही प्रियंका अर्जुनगंज स्थित मरी माता के मंदिर में नवरात्र के पहले दिन माथा टेक कर सीधे बहराइच के लिए रवाना हो गयीं। दरअसल प्रियंका गांधी यहां बहराइच में पीड़ित परिवार से मुलाकात कर पूर्वांचल की तराई बेल्ट में भी अपना समर्थन जुटाने के प्रयास में हैं, जिससे यूपी के चुनाव में जनता कांग्रेस के साथ जुड़े।

हालांकि यूपी में बीजेपी के मुकाबले अभी तक विपक्ष की भूमिका में समाजवादी पार्टी ही नजर आ रही है। लेकिन प्रियंका गांधी के इस दांव से राज्य में चौथे नंबर की मानी जाने वाली कांग्रेस पार्टी ने जनता की नब्ज पकड़ कर फिर से यूपी में अपनी जगह बनानी शुरू कर दी है, जिसको लेकर अन्य राजनीतिक दलों में हलचल मची हुई है। इधर बीजेपी भीतर ही भीतर इस बात से खुश है कि कांग्रेस अन्य दलों के वोट बैंक में सेंध लगा रही है, जिससे उन्हें भारी बहुमत से यूपी में जीत मिल सकती है। बहरहाल कांग्रेस की यह मेहनत अगले विधानसभा चुनाव में कितना रंग दिखाएगी। यह तो चुनाव के नतीजे आने के बाद ही पता चलेगा।