SIT ने किया बरामद हनी ट्रैप वाला वीडियो, महंत नरेंद्र गिरी की मौत का खोलेगा राज

0 390

प्रयागराज। महंत नरेंद्र गिरी की मौत से जुड़े जिन सवालों के उठने की बात हो रही थी, उनमें से एक सवाल उनकी मौत के पीछे छुपे एक अश्लील वीडियो को लेकर भी था। दरअसल एसआईटी ने आनंद गिरि के ग्रुप से वीडियो बरामद किया है। अब इस वीडियो को लेकर एग आशंका व्यक्त की जा रही है कि कहीं संदिग्ध परिस्थितियों में हुई महंत नरेंद्र गिरी कि मौत के पीछे हनी ट्रैप तो वजह नहीं है.

सूत्रों के मुताबिक जांच के दौरान एसआईटी ने आनंद गिरि के ग्रुप से वीडियो बरामद किया है. इसी वीडियो को दिखाकर महंत नरेंद्र गिरि को ब्लैक मेल किया जा रहा था. महंत नरेंद्र गिरि ने सुसाइड नोट में भी इसका जिक्र किया है. पुलिस की जांच के मुताबिक मामला आत्महत्या का है, जबकि महंत के चाहने वालों के मुताबिक मामला साजिशन मौत का है, लेकिन सुसाइड लेटर के मुताबिक मामला अब एक महिला से जुड़ा दिखाई देता है.

पुलिस के पास मौजूद सुसाइड नोट में महंत नरेंद्र गिरि ने लिखा है क‍ि “आनंद गिरि के कारण आज मैं विचलित हो गया. हरिद्वार से सूचना मिली कि आनंद कंप्यूटर के माध्यम से एक लड़की के साथ मेरा फोटो जोड़कर गलत काम करते हुए फोटो वायरल करने वाला है. वह मुझे बदनाम करने जा रहा है. मैंने सोचा कि एक बार बदनाम हो गया तो कहां-कहां सफाई दूंगा. बदनाम हो गया तो जिस पद पर हूं उसकी गरिमा चली जाएगी. इससे अच्छा तो मर जाना ठीक है. मेरे मरने के बाद सच्चाई तो सामने आ ही जाएगी. आगे नरेंद्र गिरि ने लिखा कि मैं जिस सम्मान से जी रहा हूं अगर मेरी बदनामी हो गई तो मैं समाज मैं कैसे रहूंगा, इससे अच्छा मर जाना ठीक रहेगा.

पहले ही करने वाला था आत्महत्या

महंत नरेंद्र गिरि ने सुसाइड नोट में लिखा है कि मैं 13 सितंबर को ही आत्महत्या करने वाला था . लेकिन हिम्मत नहीं कर पाया. आज जब हरिद्वार से सूचना मिली की आनंद एक दो दिन में फोटो वायरल करने वाला है, तो बदनामी से अच्छा मर जाना है. मेरी आत्महत्या का जिम्मेदार आनंद गिरि, पुजारी आद्या प्रसाद तिवारी और उनका लड़का संदीप तिवारी है. तीनों आरोपियों के नाम के साथ लिखा है कि मैं पुलिस अधिकारियों व प्रशासनिक अधिकारियों से प्रार्थना करता हूं कि इन तीनों पर कानूनी कार्रवाई की जाए, जिससे मेरी आत्मा को शांति मिल सके.

Leave A Reply